ikshit

Chote - Chote Anubhav

51 Posts

36 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12933 postid : 679349

!! मेरी बहना !! Contest

Posted On: 1 Jan, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

एक गहना… मेरी बहना…

एक गहना मेरी बहना
हर भाई का ये कहना!
संग तेरे
रंग कितने ढंग-ढंग के कल के देखे
इस आज की सूरत पर
उस कल का हर पल
कितना मुश्किल है सीने पर सहना!
रक्षा-बंधन की पावन कसमें
भाई-दूज का पर्व सलोना
और वो अपने घर का आँगन
जहाँ लड़क-पन के सपने
नहीं कभी सुनते थे
अनजाने भविष्य का कोई… कैसा भी भय पैना…
है अब तो बस आँखों में
यादों का झरना बहना!
प्यार भारी ढेर प्यारी वो बातें
और एक-दूजे से
जो कहा करते थे… अपने सपनों की कहानियाँ
अब बहना कहाँ है वो कल के तोता-मैना?
खाली-खाली सा
तेरे मन का कोना
और एक गहरी उदासी का
इस मेरे दिल में होना…
मन के जख्म सब एक हैं
होठों से
कहाँ तक
क्या-क्या कहना?
दूरियाँ
सच
आज रुपयों की कीमत
और मंहगी होती ज़िंदगी की ज़रूरत पर
बिक रही हैं
और मैं
दोनों ही हैसियत पर
शायद…
बहुत ग़रीब हूँ
मेरी बहना!
और क्या सच कहना
कि बस दुआ है
मेरे हर खुदा से
तुम हर सूरत पर खुश रहना
मेरी बहना!



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

yamunapathak के द्वारा
January 2, 2014

इक्षित जी भाई के लिए बहन का असीम प्यार और बहन के प्रति भाई का प्यार और दायित्व पूर्ण ….भारतीय संस्कृति में रिश्तों की खूबसूरती की अद्भुत मिसालों में से एक है.आपकी कविता में वह भाव बहुत ही सुंदरता से मुखर हुआ है. साभार

    ikshit के द्वारा
    January 5, 2014

    Yamuna Ji… aap ke prerak shabdon ke liye bahut-bahut dhanyawaad! Bas apne ahsaason aur samay se ladi ja rahi aaj ki jang ko shabd dene ki koshish ki thi. Bhaavnaao ka ufaan dil ki saari kahani kah gaya. Aaap ke vichar jaan kar aur bhi khushi hui. Punah DHANYAWAAD… aabhaari -IKSHIT


topic of the week



latest from jagran